ये बजट कला और संस्कृति के लिए एक उदासीन रवैया वाला बजट है
February 21, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 21 फरवरी 2020 नई दिल्ली। ऊर्जा के साथ साथ बी डी कल्ला जी कला संस्कृति की तरफ भी ध्यान देते तो बजट में ऐसा नहीं होता.जैसे पर्यटन के लिए विश्वेंद्र सिंह जी ने 100 करोड़ का बजट अलग से पास करवाया है. बी डी कल्ला जी को भी अलग से बजट पास करवाने के प्रयास करने चाहिए थे।