शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन गिरावट
October 30, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 30 अक्टूबर 2020, मुंबई। भारतीय सूचकांक लगातार दूसरे दिन गिरावट के साथ बंद हुए। एलएंडटी और टाइटन इंडेक्स के सबसे ज्यादा गिरावट वाले शेयर रहे। निफ्टी 58.80 अंक नीचे आया और 11,700 से नीचे 11,670.80 अंक पर बंद हुआ। दूसरी ओर एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 172.61 अंकों की गिरावट के साथ 39,749.85 पर बंद हुआ। लगभग 1542 शेयरों में गिरावट आई, 1019 शेयर ऊपर चढ़े, जबकि 170 शेयर अपरिवर्तित रहे। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के प्रमुख सलाहकार श्री अमर देव सिंह ने बताया कि आज के कारोबारी सत्र में एशियन पेंट्स (2.89%), अल्ट्राटेक सीमेंट (1.64%), श्री सीमेंट (1.12%), एचसीएल टेक (0.82%), और कोटक महिंद्रा बैंक (1.14%) निफ्टी के टॉप गेनर थे, जबकि, एलएंडटी (4.97%), टाइटन कंपनी (3.34%), ओएनजीसी (2.79%), अदानी पोर्ट्स (3.15%) और टाटा मोटर्स (2.08%) निफ्टी के टॉप लूजर थे।


आईटी इंडेक्स को छोड़कर सभी सेक्टोरल इंडेक्स लाल रंग के साथ बंद हुए। बीएसई मिडकैप में 0.01% की मामूली गिरावट आई और बीएसई स्मॉलकैप में भी 0.55% की गिरावट आई है।
मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड: वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में मारुति सुजुकी ने अपने कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट में 2% की वृद्धि दर्ज की, जबकि ऑपरेशंस से कंपनी का राजस्व 10.34% बढ़ा। ईबीआईटीडीए में 20% की वृद्धि हुई। मुनाफे के बावजूद, कंपनी के शेयरों में 1.42% की गिरावट आई और इसने 7,084.00 पर कारोबार किया।
लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड: एलएंडटी के स्टॉक में 4.97% की गिरावट आई और 934.00 रुपए पर कारोबार हुआ। वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में कंपनी ने 5520.3 करोड़ रुपए का कंसोलिडेटेड प्रॉफिट दर्ज किया, जो एक साल पहले इस अवधि में 118% अधिक था। हालांकि, कंसोलिडेटेड रेवेन्यू में साल-दर-साल 12% की गिरावट आई।
अजंता फार्मा लिमिटेड: अजंता फार्मा के स्टॉक में 3.04% की बढ़ोतरी हुई और कंपनी ने 1,640.00 रुपए पर कारोबार किया। कंपनी ने कहा कि वह नवंबर 2020 में बायबैक प्रस्ताव पर फैसला करेगी।


कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड: जायडस कैडिला को लिनाग्लिप्टिन टैबलेट्स 5एमजी की मार्केटिंग के लिए यूएसएफडीए से अस्थायी मंजूरी मिली। इस मंजूरी के बाद भी कंपनी के शेयरों में 1.36% की गिरावट आई और इसने 412.80 रुपए पर कारोबार किया।
इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड: कंपनी ने बताया कि वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही में उसका घाटा 1194.8 करोड़ रुपए तक बढ़ गया, यह संख्या उम्मीद से बेहतर थी। इसके बाद भी कंपनी के शेयरों में 2.30% की वृद्धि हुई और उसने 1,323.45 रुपए पर कारोबार किया।
भारतीय रुपया: अस्थिर इक्विटी बाजारों के बीच अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया लगातार दूसरे दिन कमजोर होकर अंत में 74.11 रुपए पर बंद हुआ।
ग्लोबल मार्केट: यूरोपीय सूचकांकों को छोड़कर प्रमुख ग्लोबल मार्केट इंडेक्स लाल रंग के साथ बंद हुए क्योंकि कोरोना के मामले विश्व स्तर पर बढ़ गए, जिससे निवेशकों को अपने निवेश को लेकर चिंतित होना पड़ा। नैस्डेक 3.73%, निक्केई 225 0.37%, और हैंग सेंग में 0.49% की गिरावट आई, जबकि एफटीएसई एमआईबी और एफटीएसई 100 में क्रमशः 0.15% और 0.04% की बढ़ोतरी हुई।