सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल ने टेक्नो-कल्चरल फेस्ट ‘कम्प्युफेस्ट’ का वर्चुअल आयोजन किया
October 14, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 14 अक्टूबर 2020, गाज़ियाबाद। तेज बदलाव के इस दौर में जब लोग डिजिटल प्लेटफॉर्म अपनाने जैसे बुनियादी परिवर्तन कर रहे हैं तो शिक्षा जगत के संचालकों के लिए मैदान में टिके रहने के लिए यह जरूरी होगा कि विद्यार्थियों की आने वाली ज़िन्दगी में उपयोगी कौशल प्रदान करें। इस उत्साह और 15 साल पुरानी विरासत के साथ सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल, गाज़ियाबाद ने 12 और 13 अक्टूबर 2020 को अपने सालाना टेक्नो-कल्चरल फेस्ट- ‘कम्प्युफेस्ट’ का वर्चुअल आयोजन किया। इस अवसर पर उपस्थित गणमान्य लोगों में उल्लेखनीय हैं जयपुरिया ग्रुप आॅफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस के अध्यक्ष श्री शिशिर जयपुरिया, सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल, वसुंधरा गाजियाबाद की प्रिंसिपल सह निदेशका सुश्री मंजू राणा, वाइस प्रिंसिपल सुश्री वी.सुप्रभा, हेड मिस्ट्रेस सुश्री सोनल श्रीवास्तव और सुश्री इंदु कोहली। दो दिवसीय शानदार आयोजन में दिल्ली-एनसीआर के कई स्कूलों की उत्साहवर्द्धक भागीदारी देखी गई।


12 अक्टूबर को पारंपरिक दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया गया। मधुर स्वर में स्वागत् गान के बाद  प्रिंसिपल सह निदेशक महोदया ने मौके पर मौजूद गणमान्य लोगों का स्वागत किया और बहुत कम समय में इस तरह के विशाल आयोजन के लिए जयपुरिया स्कूल की साइबर क्रू टीम के अथक प्रयासों हेतु हार्दिक बधाई दी। साथ ही, प्रतिभागी स्कूलों को भी चुनौती स्वीकार करने के उनके उत्साह की सराहना की। श्री शिशिर जयपुरिया ने अपने संबोधन में समाज में डिजिटल क्रान्ति के लिए स्कूल के अथक प्रयासों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि महामारी के खतरों के मद्देनजर बच्चों को उनके घर तक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पहुंचाने और छात्रों को उनकी प्रतिभा दिखाने में डिजिटल प्लैटफाॅर्म को बहुत महत्वपूर्ण है।
आयोजन का मकसद छात्रों के तकनीक और साहित्यिक कौशल को बढ़ाना है और इसमें कई गतिविधियां की गई। एक ओर इलस्ट्रो-क्विल, एक्स्प्लोर स्पार्क, डीजाइन, कोड डीकोड, सिनेमा स्कोप, डिकोड-एक्स, वर्चुअल वारियर्स, शरलॉक्ड जैसे आयोजन में छात्रों को एडोब स्पार्क, ऑटो ड्रॉ, पायथन, माइनक्राफ्ट, फोटोशाॅप, टूनास्टिक जैसे टूल्स के उनके ज्ञान का अधिकतम उपयोग दिखाने का अवसर मिला तो दूसरी ओर टर्न कोट (डिबेट) और लेट्स टॉक (रेडियो जॉकी) जैसे आयोजनों से उन्होंने बोलने का कौशल और परिस्थितियों के गंभीर विश्लेषण की क्षमता का प्रदर्शन किया।


इस रोमांचक सफर का समापन 13 अक्टूबर को हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्री रमन रामनाथन थे जो भारत सरकार के अटल इनोवेशन मिशन के मिशन निदेशक हैं। श्रीमती सुनीता जयपुरिया, वाइस-चेयरपर्सन, सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस ने प्रौद्योगिकी का उपयोग बढ़ाने और इसे स्कूली शिक्षा का अभिन्न हिस्सा बनाने पर जोर दिया। उन्होंने छात्रों को आजीवन पढ़ाई से जुड़े रहने और समझदार इंसान बनने का प्रोत्साहन दिया। ‘मेकिंग ऑफ कम्प्युफेस्ट’ के उत्साहवर्द्धक स्लाइड प्रदर्शन के साथ प्रतिभागियों की भागीदारी के लिए उन्हें वर्चुअल सर्टिफिकेट दिए गए। स्कूल इस समारोह में समग्र विजेता के रूप में सर्वोपरि घोषित किया गया। अध्यक्ष, साइबर क्रू ने कम्प्युफेस्ट के लिए तमाम बुनियादी सुविधाएं देने हेतु स्कूल का धन्यवाद ज्ञापन किया। इसे छात्रों को उनकी क्षमता समझने में सहायक बताने के साथ आयोजन के लिए आईटी विभाग का विशेष उल्लेख किया। आयोजन के सफल संचालन के लिए विभाग के समर्पण और संकल्प की प्रशंसा की। साइबर क्रू के सभी सदस्यों को अथक प्रयास कर आयोजन को इतना सफल बनाने के लिए बधाई दी। वर्चुअल कम्प्युफेस्ट टेक्नोलॉजी और संस्कृति के मेले से बढ़ कर इस कठिन समय में छात्रों के अंदर हार नहीं मानने का हौसला बुलंद करने का प्रयास है।