राम मंदिर ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़ा चाहता है बड़ी भूमिका
November 19, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 19 नवंबर 2019 नई दिल्ली। अयोध्या रामजन्मभूमि प्रकरण में सर्वोच्च न्यायालय की ओर से दिए गए आदेश के मद्देनजर निर्मोही अखाड़ा के पंचों की अयोध्या में रविवार (17 नवंबर) को बैठक हुई। बैठक में हुए फैसले के अनुसार, प्रधानमंत्री से मिलने का समय लेने के लिए एक पत्र सोमवार (18 नवंबर) को रजिस्ट्री से भेजा गया। पत्र में कहा गया कि सर्वोच्च न्यायालय ने अपने फैसले में निर्मोही अखाड़ा की ऐतिहासिक उपस्थिति को स्वीकार किया है। इसके साथ ही बोर्ड ऑफ ट्रस्ट में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने की भी अपेक्षा की है। इस क्रम में अखाड़े का प्रतिनिधिमंडल आपसे भेंट करना कर अपना प्रतिवेदन देना चाहता है। इस सम्बन्ध में मुलाकात के लिए समय निर्धारित करने का कष्ट करें।
निर्मोही अखाड़े की बैठक में बोर्ड ऑफ ट्रस्ट में शामिल होने का निर्णय लिया गया। इसके मद्देनजर अपना प्रतिनिधित्व भेजने के लिए अयोध्या बैठक के महंत दिनेन्द्र दास ने सोमवार को जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम दूसरा पत्र भेजा है। यह पत्र अखाड़े के मुख्तार प्रभात सिंह ने जिलाधिकारी अनुज कुमार झा को सौंपा। ज्ञातव्य है कि निर्मोही अखाड़े के 15 पंचों में 13 पंच ही मौजूदा वक्त में हैं। इनमें से नौ पंचों ने ही बैठक में शिरकत की थी। इन सभी पंचों ने सामूहिक रूप से निर्णय लिया कि बोर्ड ऑफ ट्रस्ट में अखाड़े के सभी पंचों को शामिल किया जाए।