ओप्पो इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के लिए स्मार्ट डिवाईस ईकोसिस्टम के आरएंडडी में 7 बिलियन डाॅलर का निवेश
December 12, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार वीरवार 12 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। ओप्पो ने षेनज़ेन में ओप्पो इनो डे 2019 का आयोजन किया। इसकी थीम 'क्रिएट बियाँड बाउंड्रीज़' (सीमाओं से बाहर जाकर निर्माण) थी। इस अवसर पर ओप्पो ने इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के युग के लिए अपने प्रयासों एवं ज्ञान की जानकारी दी। इस समारोह में ओप्पो ने स्मार्ट डिवाईसेस की श्रृंखला का प्रदर्षन किया, जिसमें स्मार्ट वाॅच, स्मार्ट हेडफोन, 5जी सीपीई, एआर ग्लास तथा प्रमुख टेक्नाॅलाॅजिकल प्रगतियां, जैसे फ्लैष चार्जिंग, 5जी, इमेजिंग एवं साॅफ्टवेयर आॅप्टिमाईज़ेषन षामिल हैं।


यह समारोह औद्योगिक विषेशज्ञों, साझेदारों एवं प्रमुख ओपिनियन लीडर्स का एक मंच था, जहां उन्होंने टेक्नाॅलाॅजी के भविश्य के बारे में बताया। इसकी षुरुआत करते हुए ओप्पो के फाउंडर एवं सीईओ, टोनी षेन ने अपने मुख्य भाशण में कहा, ''5जी अपनाए जाने और एआई का विकास होने के बाद, इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी आसान हो गई है। हमारा मानना है कि कनेक्षन का सिद्धांत केवल एक फाउंडेषन है, जिसका भविश्य चीजों का इंटीग्रेषन एवं विस्तार है। इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के सिद्धांत के चार प्रमुख हिस्से हैं, जिनमें टेक्नाॅलाॅजी एवं सर्विस का विस्तार, संगठन का विस्तार, संस्कृति का विस्तार तथा टेक्नाॅलाॅजी, कला एवं मानवीयता का विस्तार षामिल है। 
षेन ने यह भी बताया, ''ओप्पो केवल एक फोन निर्माता ही नहीं है। वास्तव में तो स्मार्टफोन ओप्पो के लिए टेक्नाॅलाॅजिकल सेवाओं का विविध पोर्टफोलियो प्रदान करने का माध्यम हैं। ओप्पो एवं समूचे उद्योग में कोई भी ऐसी कंपनी नहीं होगी, जो केवल स्मार्टफोन का निर्माण करने पर केंद्रित होगी।''
इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के युग के लिए तीन प्रमुख कार्ययोजनाएं
षेन ने अगले 3 सालों के लिए 50 बिलियन आरएमबी (लगभग 7 बिलियन अमेरिकी डाॅलर) के आरएंडडी बजट की घोशणा की, जो हार्डवेयर, साॅफ्टवेयर एवं सिस्टम में मुख्य टेक्नाॅलाॅजी तथा 5जी/6जी, एआई, एआर, बिग डेटा एवं अन्य प्रमुख टेक्नाॅलाॅजी के विकास के लिए खर्च किया जाएगा।
5जी में मौजूद अवसरों का लाभ उठाने के लिए ओप्पो तीन मुख्य कार्ययोजनाएं क्रियान्वित कर रहा है। षुरुआत में कंपनी विष्व की अग्रणी टेक्नाॅलाॅजी के विकास के लिए मुख्य टेक्नाॅलाॅजी आरएंडडी का क्रियान्वयन करने की योजना बना रही है। इसके बाद ओप्पो इंटैलिजेंट डिवाईसेस का एक मल्टी-पोर्टल ईकोसिस्टम निर्मित करेगा, जिनमें स्मार्टफोन मुख्य गेटवे का काम करेंगे तथा अंत में ओप्पो यूज़र सर्विस पर पुनर्विचार कर अपने कंटेंट एवं सेवाओं को आॅप्टिमाईज़ करेगा। 
5जी का रोचक एवं पर्सनलाईज़्ड अनुभव प्रदान करने के लिए इंटीग्रेटेड टेक्नाॅलाॅजी सिस्टम का निर्माण
ओप्पो के वाईस प्रेसिडेंट एवं ओप्पो रिसर्च इंस्टीट्यूट के हेड, लेविन ल्यू ने अपने मुख्य संबोधन में कहा, ''नए 5जी युग के दौर में ओप्पो टेक इनोवेषन 2.0 की ओर बढ़ेगा, जो 'फ्रंटियर टेक्नाॅलाॅजी' एवं यूज़र के लिए वैल्यू के सिद्धांत द्वारा संचालित होगा।'' ल्यू ने बताया, ''टेक्नाॅलाॅजी एवं सर्विसेस के बीच संगामी विस्तार का महत्व बढ़ गया है, इसलिए ओप्पो एक ऐसा इंटीग्रेटेड टेक्नाॅलाॅजी माॅडल बना रहा है, जिसमें पांच क्षेत्र - उपकरण, डेटा, कंप्यूटिंग, सर्विसेस एवं परिदृष्य षामिल हों। इस माॅडल में 5जी एवं एआई बुनियाद के रूप में काम करेंगे और हमारी मुख्य क्षमताओं द्वारा सभी टेक्नाॅलाॅजीज़ का इंटीग्रेषन होकर पूर्ण रूप से सतत टेक्नाॅलाॅजिकल अनुभव निर्मित होगा। ओप्पो अपनी भविश्य की डिवाईसेस की योजना बनाने के लिए 'त्रिचक्रीय परिदृष्य' रोडमैप का अनुषरण करेगा, जिसमें व्यक्तिगत परिदृष्य, वर्टिकल परिदृष्य एवं अभिसारित परिदृष्य षामिल हैं। 
ल्यू ने कहा कि इसके साथ ओप्पो 2020 की पहली तिमाही में स्मार्ट वाॅच, स्मार्ट वायरलेस हेडफोन एवं 5जी सीपीई लाॅन्च करने की योजना बना रहा है।
इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के युग को पहचानने के लिए साझेदारों के साथ काम करते हुए ईवेंट के दौरान, ओप्पो एवं अग्रणी ग्लोबल इन्फाॅर्मेषन प्रदाता, आईएचएस मार्किट ने संयुक्त रूप से एक व्हाईट पेपर जारी किया, जिसका षीर्शक ''इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी: 5जी, एआई एवं क्लाउड के साथ अवसरों की षुरूआत'' था। 5जी द्वारा पाॅवर्ड इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के युग में उद्योग के ट्रेंड्स एवं संभावनाओं का विवरण देते हुए व्हाईट पेपर में इंटैलिजेंट एवं अभिसरित परिवेष के विकास के भविश्य के बारे में सुझाव एवं दिषानिर्देष दिए गए।
ओप्पो ने एक फोरम - '5जी की दुनिया में भविश्य का इंटीग्रेषन' भी आयोजित किया, जिसमें ओप्पो के चीफ 5जी साईंटिस्ट, हेनर तंग; सुप्रसिद्ध वित्तीय लेखक एवं हांगझू बाज्युलिंग कल्चरल क्रिएटिविटी कंपनी तथा लांषिज़ी फाईनेंषल पब्लिषिंग सेंटर के संस्थापक, ज़ु ज़ियाबो; आईएचएस मार्किट एक्ज़िक्यूटिव डायरेक्टर, टाॅम मौरोड; माईक्रोसाॅफ्ट (चाईना) नेषनल टेक्नाॅलाॅजी आॅफिसर, किंग वी; एन्डोड बोया प्रोफेसर आॅफ पेकिंग यूनिवर्सिटी एवं सेंटर आॅन फ्रंटियर्स आॅफ कंप्यूटिंग स्टडीज़ के एक्ज़िक्यूटिव डायरेक्टर, षेन बाओकन तथा काॅन्टैक्स्ट लैब के फाउंडर, षेंग वु के साथ अग्रणी औद्योगिक विषेशज्ञों के एक पैनल ने 5जी द्वारा पाॅवर्ड इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी पर अपने विचारों का आदान-प्रदान किया।
इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के ट्रेंड्स एवं इसके विकास के चरणों तथा अपने टेक्नाॅलाॅजिकल रोडमैप से प्राप्त जानकारी के साथ ओप्पो टेक्नाॅलाॅजी के क्षेत्र में इनोवेषन पर केंद्रित रहने के लिए प्रतिबद्ध है। इसका मुख्य उद्देष्य अपने स्मार्ट डिवाईस के व्यवसाय में दीर्घकालिक विकास करना तथा यूज़र्स को सबसे ज्यादा विस्तृत एवं पर्सनलाईज़्ड टेक्नाॅलाॅजिकल अनुभव प्रदान करना है। काॅन्फ्रेंस में षेन ने कहा कि ओप्पो कंपनी के ''बेनफेन'' के मुख्य सिद्धांत का पालन करता रहेगा तथा पूरे उद्योग में साझेदारों के साथ एक खुले एवं पारस्परिक हितकारी वातावरण में काम करते हुए इंटैलिजेंट कनेक्टिविटी के भविश्य की खोज करता रहेगा।