MOMSPRESSO.COM हिंदी कंटेंट बनने में 4 गुना वृद्धि 
September 23, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 23 सितम्बर 2020, नई दिल्ली। डेटा मैप के अनुसार विभिन्न फॉर्मेट्स (100 शब्दों की कहानियां, ब्लॉग और व्लॉग्स) में हिंदी यूजी (यूजर जनरेटेड) कंटेंट बनाने में गति आई है। 2019 के बाद से यह 4.1 गुना बढ़ गई है। मॉमस्प्रेसो (Momspresso.com) के क्रिएटर्स में अब 38% हिंदी लेखक हैं। मॉमस्प्रेसो पर प्रति ब्लॉगर द्वारा बनाई गई हिंदी सामग्री अंग्रेजी सामग्री बनाने वाले के मुकाबले 1.7 गुना अधिक है। यह आश्चर्य की बात नहीं है कि यह आंकड़े तब के है जब मॉमस्प्रेसो पर हिंदी सामग्री की हिस्सेदारी सिर्फ 35% है। यह गौर करने वाली बात है कि 97% हिंदी सामग्री ऐप से बनी है।
मॉमस्प्रेसो के अनुसार हिंदी सामग्री की खपत तेजी से बढ़ रही है। मंथली पेज व्यू 66% तक बढ़ गए हैं, जबकि, 2020 में मंथली वीडियो व्यू में 650% की वृद्धि हुई है। हिंदी अब प्लेटफार्म के कुल 100 मिलियन पेज व्यू का 70% है। प्लेटफार्म के यूजर विभिन्न विषयों जैसे कि पालन-पोषण, रिश्ते, सामाजिक जिम्मेदारी, व्यंजनों, गर्भावस्था और बच्चे, कैरियर के विकल्प और इसी तरह की गुणवत्तायुक्त सामग्री का आनंद ले रहे हैं। दिलचस्प बात यह है कि हिंदी कंटेंट का इंटरेक्शन रेट अंग्रेजी कंटेंट के मुकाबले 18 गुना है। यह प्लेटफॉर्म पर हिंदी कंटेंट की लोकप्रियता को स्पष्ट करता है।
इन ट्रेंड्स पर बात करते हुए मॉमस्प्रेसो के सह-संस्थापक और सीईओ श्री विशाल गुप्ता ने कहा, “हिंदी दिवस के अवसर पर मुझे यह बताने में गर्व महसूस हो रहा है कि मॉमस्प्रेसो डिजिटल पर हिंदी सामग्री के पुनरुत्थान को हम गति दे रहे हैं। माताओं को सामग्री बनाने और उसका इस्तेमाल करने के लिए एक सुरक्षित स्थान प्रदान कर हम महिलाओं की हाइली एंगेज्ड और मजबूत कम्युनिटी बनाने में सफल रहे हैं। हमारा लक्ष्य अगले 3 वर्षों में हमारे प्लेटफार्म पर भारत की सभी माताओं के 70% लाना है और हमारी हिंदी पहल की सफलता हमें इस लक्ष्य को हासिल करने का विश्वास दिलाती है। यह देखकर भी खुशी हो रही है कि ब्रांड डिजिटल पर क्षेत्रीय भाषाओं के महत्व को समझ रहे हैं और हिंदी ही नहीं बल्कि अन्य भारतीय भाषाओं को भी अपना रहे हैं।


हिंदी सामग्री बनाने और इस्तेमाल में चल रही वृद्धि को देखते हुए ब्रांड्स ने भी भारतीय भाषा पर अपना ध्यान केंद्रित किया है। मॉमस्प्रेसो के माध्यम से अपने यूजर से जुड़ने के लिए हिंदी सामग्री का उपयोग करने वाले ब्रांड्स का प्रतिशत 2017 में 6%, 2018 में 27% था जबकि 2020 में अब यह 40% तक पहुंच रहा है। प्रमुख ब्रांड्स जैसे केलॉग, सर्फ एक्सेल, हमदर्द, परफ़ेती (अल्पेनलिबे), और मदर डेयरी मॉमस्प्रेसो और इसके हिंदी सोशल मीडिया पेजों का उपयोग महिलाओं में टारगेट ऑडियंस तक पहुंचने में गहराई से कर रहे हैं। मॉमस्प्रेसो ने बताया कि हिंदी ब्लॉगर्स के मामले में टॉप शहर दिल्ली एनसीआर, लखनऊ, जयपुर, इंदौर, पटना, आगरा, पानीपत, लुधियाना, अलीगढ़, पुणे और मेरठ थे। यह इंगित करता है कि टियर 2 और टियर 3 शहर अब अपनी उपस्थिति महसूस करा रहे हैं।