महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर मनाएंगे कायस्थ संकल्प दिवस
October 2, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 2 अक्टूबर 2020, नई दिल्ली। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा दिल्ली पंजीकृत देश के दो युग पुरूष सर्वप्रथम परम पूज्य प्यारे बापू राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं कायस्थ कुल गौरव देश के पूर्व प्रधान मंत्री परम आदरणीय लाल बहादुर शास्त्री की जयंती 02 अक्टूबर पर "कायस्थ संकल्प दिवस" मनाने जा रहा है। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा दिल्ली(भारत) के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री योगेन्द्र नाथ श्रीवास्तव श्रीवास्तव ने बताया कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री दोनों के पूज्य जन्मदिन को हम आज से हर साल एक प्रेरणा दिन जिससे हम "कायस्थ संकल्प दिवस" के रूप में मनाएंगे एवं प्रत्येक वर्ष एक नया संकल्प लेंगे जो कायस्थ समाज के लिए पथ प्रदर्शक का कार्य करेगा।इसी की शुरुवात करते हुए एवं कायस्थ रत्न श्री लाल बहादुर शास्त्री जी की प्रेरणा से एक नारा आप सभी को दे रहे हैं जिसे आज से हम सभी को आत्मसात करना है।


श्री श्रीवास्तव ने बताया कि इस अभियान के अन्तर्गत हम आप सभी से अपेक्षा करते हैं की आने वाले नये वर्ष 2021 से हमारा हर परिवार एक ना एक व्यवसाय या स्वरोजगार की शुरुवात करे एवं आत्मनिर्भर बने ।अखिल भारतीय कायस्थ महासभा आप सभी के लिए इससे जुड़े कुछ व्यावसायिक अवसर उपलब्ध करवाएगी एवं उनकी स्थापना एवं प्रबन्धन का पूरा विस्तृत कार्यक्रम तैयार करके इन व्यवसायों को आपको स्थापित एवं सुचारू रूप से चलाने में सदैव आपके साथ रहेगी। उन्होंने बताया कि ये सभी कार्यक्रम कोऑपरेटिव संरचना पर कार्य करेंगे एवं हम सुनिश्चित करेंगे के आनेवाले २-३ वर्षों में हमारा कोई भी परिवार या युवा बेरोजगार नहीं रहेगा अपितु हमारा हर परिवार आनेवाले समय में सर्व संपन्न परिवार एवं समाज का हिस्सा रहेगा एवं राष्ट्र निर्माण में अपनी अग्रणी भूमिका निभाएगा । ये परिकल्पना एक वृहद राष्ट्रीय अभियान है एवं आप सभी के संसर्ग एवं सहभागिता के बिना पूरा नहीं होगा । हम समय समय पर आप सभी से सुझाव लेंगे एवं हम कैसे इस अभियान को और अधिक परिवारों तक सरलता से पहुंचा सकते हैं इस पर आपसे संपर्क एवं चर्चा करते रहेंगे। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा अपने सभी परिवारजनों से अपेक्षा एवं आवाहन करता है के आइए हम सब २ अक्टूबर के इस ऐतिहासिक दिन को एक संकल्प लें के हम सब मिलकर हमारे कायस्थ समाज को सर्वांगीण विकसित समाज बनाएंगे एवं राष्ट्र निर्माण में अपनी अग्रणी भूमिका निभा कर भारत को विश्वगुरु बनाएंगे।