लॉरिआल इंडिया ने कोविड-19 के लिए अपना सहयोग दिया
April 17, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 17 अप्रैल 2020 नई दिल्ली। लॉरिआल इंडिया ने आज कोविड-19 की महामारी के दौरान देश का सहयोग करने के अपने प्रयासों की घोषणा की। यह योगदान लॉरिआल ग्लोबल सॉलिडरिटी प्रोग्राम के अतिरिक्त दिया गया है, जिसमें लॉन-प्रॉफिट संगठनों को योगदान दिया जाता है। लॉरिआल इंडिया कोविड-19 की महामारी से लड़ाई लड़ने के लिए केंद्र व राज्य सरकारो स्वास्थ्यकर्मियों एवं कार्यकर्ताओं के कामों में सहयोग करने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण के साथ काम कर रहा है।


1. स्वास्थ्यकर्मियों एवं कमजोर वर्ग के लोगों के स्वास्थ्य व सुरक्षा में योगदान देना।
लॉरिआल इंडिया की ऑपरेशंस टीम सैनिटाईज़र्स की कमी को पूरा करने के लिए 100 मिली., 340 मिली. और 640 मिली. की बोतलों में 60,000 लीटर एल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाईज़र वितरित करेगी। ये सैनिटाईज़र स्वास्थ्य केंद्रों, पुलिस बल एवं एनजीओ को वितरित किए जाएंगे, जो अग्रिम कतार में रहकर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं।
इसके अलावा कंपनी हिमाचल प्रदेश के बद्दी और महाराष्ट्र के चाकन में अपने निर्माण संयंत्रों के आसपास स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ सहयोग करके मेडिकल समुदाय को पर्सनल प्रोटेक्टिव ईक्विपमेंट (पीपीई) उपलब्ध करा रही है।
2. सबसे ज्यादा  समुदायों का सहयोग
लॉरिआल इंडिया बद्दी, चाकन, मुंबई, गुरुग्राम और बैंगलुरू में एनजीओ एक्शनएड एवं निर्मला निकेतन के सहयोग से प्रवासियों एवं उनके परिवारों को खाद्य एवं आवश्यक सामग्री वितरित कर रहा है।
3. हमारी सराहना का प्रदर्शन
सराहनास्वरूप, लॉरिआल इंडिया स्वास्थ्यकर्मियों को केयर पैकेज वितरित करेगा, जो कोरोना की महामारी से लड़ने के लिए बिना थके निरंतर काम कर रहे हैं।
लॉरिआल इंडिया पीएम केयर्स फंड में डोनेशन अभियान द्वारा अपने कर्मचारियों का सहयोग देगा तथा एकत्रित किए गए संपूर्ण योगदान के बराबर कॉर्पोरेट योगदान भी देगा। लॉरिआल इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर, अमित जैन ने कहा, ‘‘लॉरिआल इंडिया कोविड-19 के खिलाफ राहत कार्यों में सहयोग करने के लिए स्वास्थ्य समुदाय एवं सरकार के साथ खड़ा है। यह हमारा दायित्व है कि हम अपने संसाधनों का उपयोग देश में चल रहे सामूहिक प्रयासों में योगदान देने के लिए करें। हमारे प्रयास उन लोगों को सम्मानित करते हैं, जो अग्रिम कतार में रहकर काम कर रहे हैं, इस महामारी को रोकने का प्रयास कर रहे हैं तथा इससे पीडि़त लोगों की मदद कर रहे हैं।