कुरुक्षेत्र में प्रथम एजुकेशन के नए सेंटर का उद्घाटन 
March 1, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार रविवार 01 मार्च 2020 कुरुक्षेत्र। छात्रों को विभिन्न प्रकार की अंडरग्रेजुएट प्रवेश परीक्षाओं के लिए तैयार करने के क्षेत्र में अग्रणी संस्थान, प्रथम एजुकेशन ने अपना विस्तार करते हुए कुरुक्षेत्र में अपने नए सेंटर का उद्घाटन किया है। जो छात्र काबिल हैं और जिंदगी में कुछ करना चाहते हैं, प्रथम उन्हें सही मार्गदर्शन प्रदान करने के साथ उन्हें सफल होते हुए देखने का उद्देश्य रखता है। इसी उद्देश्य के साथ, प्रथम दिल्ली-एनसीआर से बाहर निकलकर अन्य शहरों में अपना विस्तार कर रहा है।


आईआईएम इंदौर, आईआईएम रोहतक, दिल्ली युनिवर्सिटी, शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज आदि के लिए कुरुक्षेत्र से तैयारी कर रहे छात्रों को अब प्रवेश परीक्षा के लिए दिल्ली, चण्डीगढ़ या लखनऊ जैसे दूर शहरों की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी।
इस नए सेंटर का पता है- एससीओ-96, दूसरी मंजिल, सेक्टर-17, पुराने बस स्टैंड के सामने, बीकानेर के पीछे, कुरुक्षेत्र। हालांकि, इस प्रकार के प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश पाना कोई आसान काम नहीं है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों से, प्रथम अपने छात्रों की सफलता के साथ इस चुनौती को मात देता आ रहा है।
प्रथम एजुकेशन के हेड, श्री अंकित कपूर ने बताया कि, “विभिन्न स्थानों पर अपने विस्तार के साथ, हम अधिक से अधिक छात्रों तक पहुंचकर उन्हें सही मार्गदर्शन प्रदान करना चाहते हैं। पिछले कुछ वर्षों में, हमने भारत के छात्रों को विभिन्न प्रकार की अंडरग्रेजुएट प्रवेश परीक्षाओं में बैठने की मांग करते देखा है। आज के दौर में छात्र, इंजीनियरिंग व मेडिकल के अलावा करियर के नए विकल्पों में भी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। चूंकि, कुरुक्षेत्र में सुविधाओं की कमी है, इसलिए वहां के छात्रों को प्रवेश परीक्षा की तैयारी और बेहतर अवसरों के लिए दूर शहरों में जाना पड़ता है। इन छात्रों की समस्या को देखते हुए, प्रथम ने कुरुक्षेत्र में अपने विस्तार का फैसला किया।”
यदि छात्रों के टैलेंट की बात की जाए, तो कुरुक्षेत्र में काबिल छात्रों की कमी नहीं है। यहां के छात्र सफलता के लिए कठिन से कठिन परिश्रम करने के लिए तैयार हैं, उन्हें सिर्फ सही मार्गदर्शन की आवश्यकता है। कुरुक्षेत्र में इस नए सेंटर के उद्घाटन के साथ, छात्र यह सोचकर बेहद खुश हैं कि अब उन्हें अपने सपने को पूरा करने के लिए दूर शहरों की यात्रा करने की आवश्यकता नहीं है।
आमतौर पर छात्रों को तैयारी के लिए दिल्ली या चण्डीगढ़ जाना पड़ता है, जहां कई काबिल छात्र आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से होने के कारण बाहर नहीं जा पाते हैं। कुरुक्षेत्र का यह सेंटर विशेषरूप से इस प्रकार के छात्रों की समस्या को देखते हुए खोला गया है। इस नई ब्रांच के मजबूत सिस्टम के जरिए प्रथम कुरुक्षेत्र के छात्रों को सबसे अच्छी शिक्षा और सही मार्गदर्शन प्रदान करना चाहता है, जिससे वे प्रतियोगी परीक्षाओं में शानदार प्रदर्शन कर सफलता पा सकें।
पैन इंडिया के अंतर्गत, किसी भी प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए पहले प्रवेश परीक्षा को क्रैक करना जरूरी है। इस प्रवेश परिक्षा में विशेषरूप से क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, मौखिक योग्यता, लॉजिकल रीज़निंग, सामान्य ज्ञान और करंट अफयर्स आदि शामिल किए जाते हैं। हर छात्र इस एप्टीट्यूड टेस्ट को पास करने की क्षमता रखता है, उन्हें बस पॉलिशिंग और अभ्यास की आवश्यकता होती है।  प्रथम के एक्सपर्ट शिक्षक एक ऐसा पाठ्यक्रम तैयार करते हैं, जिसे छात्र न सिर्फ आसानी से समझ पाते हैं, बल्कि उसकी मदद से तैयारी भी बेहतर तरीके से कर पाते हैं।
श्री अंकित कपूर ने आगे बताया कि, “हम ऐसी शिक्षा देने में विश्वास रखते हैं जो सिर्फ किताबों और कक्षा तक सीमित न हो। हम बदलते समय और उसकी मांग की समझ रखते हैं। हम देश के छात्रों को बेहतर शिक्षा और उचित मार्गदर्शन प्रदान कर, उन्हें सफलता की ऊँचाइयों तक पहुंचाने का उद्देश्य रखते हैं। हम छात्रों को ऐसा स्टडी मटीरियल प्रदान करते हैं जो सिर्फ किताबों तक सीमित नहीं होता है, जिसके कारण छात्रों में उसके बारे में जानने की जिज्ञासा और बढ़ जाती है।