क्लियरवॉटर एनालिटिक्स ने भारत में अपने बिजनेस ऑपरेशंस का एक साल पूरा किया
August 21, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 21 अगस्त 2020, नई दिल्ली। इन्वेस्टमेंट अकाउंटिंग एवं रिपोर्टिंग के लिए ग्लोबल एसएएएस प्रदाता, क्लियरवाटर एनालिटिक्स दिल्ली-एनसीआर ऑफिस में बिजनेस ऑपरेशंस के एक साल पूरे होने का जश्न मना रहा हैकंपनी इस चुनौतीपूर्ण वक्त में भी दुनिया में निरंतर वृद्धि कर रही है और अपनी भारत स्थित टीमों के लिए प्रोडक्ट डेवलपमेंट टेलेंट नियुक्त करने की योजना बना रही है
अगस्त, 2019 में स्थापित दिल्ली-एनसीआर की साईट क्लियरवाटर सेंटर नेटवर्क का हिस्सा हैइसके ऑफिस बोईस इदाहोसिएटल, वॉशिंगटन, अमेरिका में हैंयह सेंटर एशिया सामरिक भूमिका अदा करता है तथा मजबूत टेलेंट बाजार क्षमताएं प्रदान करता हैक्लियरवाटर पिछले साल जनस्वास्थ्य पर छाए संकट एवं वर्क फ्रॉम होम मॉडल की शुरुआत से ही पूरी दुनिया में कर्मचारियों व ग्राहकों को जोड़ता आ रहा है। दिल्ली-एनसीआर का ऑफिस ने अपना ओरिजनल वद्धि का लक्ष्य परा किया और अब यह 2020 के अंत तक कर्मचारियों की संख्या दोगुनी करने का लक्ष्य बना रहा है। 
क्लियरवाटर एनालिटिक्स के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर, संदीप सहाय ने कहा, "हम भारत में अपने ऑपरेशंस का पहला साल पूरा कर रहे हैं। हम दिल्ली-एनसीआर में अपने प्रतिभाशाली प्रोफेशनल्स की टीम द्वारा की गई प्रगति पर उत्साहित हैं। उन्होंने क्लियरवाटर की टेक्नॉलॉजी, सर्विसिंग एक्सपर्टाईज, एवं संस्कृति के मामले में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।" उन्होंने कहा, "इस साल दुनिया में विस्तार करते हुए कंपनी ने महामारी के दौरान ऐसे अभियान चलाए, जिनसे हमारे सभी सेंटरों का समेकित केंद्रण ग्राहकों की सपोर्ट करने पर हो सकेऑपरेशनल एक्सिलेंस एवं मीट्रिक्स पर क्लियरवाटर की टीम का केंद्रण हमारी सफलता का मॉडल है। हम सभी यह देखने के लिए उत्साहित हैं कि अगले साल हमारे कर्मचारी कैसा प्रदर्शन करेंगे; हमारे प्रमुख अभियानों एवं संपूर्ण रोडमैप में उनका योगदान हमें बेहतर बनाएगा, जिससे हमारे ग्राहकों की सुविधा बढ़ेगी।


क्लियरवाटर का क्लाउड-बेस्ड समाधान पहले के मुकाबले ज्यादा बहुमूल्य है क्योंकि वैश्विक बिजनेस समुदाय विकसित होते हुए रिमोट ऑफिस वर्क मॉडल में ढल रहा है। मशीन लर्निंग, क्लाउड एवं हाईपर ऑटोमेशन जैसी टेक्नॉलॉजी कंपनी की टेक्नॉलॉजी एवं सर्विसेस को मजबूत करती हैं, ताकि यह दुनिया के सबसे बड़े व सबसे जटिल संस्थागत निवेशकों को सेवाएं दे सके।
वॉरेन बार्कले, चीफ टेक्नॉलॉजी ऑफिसर, क्लियरवाटर एनालिटिक्स ने कहा, "टेक्नॉलॉजिकल प्रगति के साथ आगे बने रहना हमारी कंपनी के मिशन के लिए बहुत जरूरी है, जिसकी मदद से हम इन्वेस्टमेंट अकाउंटिंग एवं एनालिटिक्स के लिए दुनिया का सबसे भरोसेमंद एवं विस्तृत सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म बने हुए हैं।" उन्होंने कहा, "नई व विकसित होती टेक्नॉलॉजी भविष्य है और यही आज का वर्तमान भी हैवो हमारे द्वारा विश्वस्तरीय उत्पाद बनाने के तरीके को प्रभावित करती रहेगी। इससे दिल्ली-एनसीआर डेवलपमेंट सेंटर में हमारे द्वारा विकसित होने वाले नए उत्पाद भी प्रभावित होंगे।
कंपनी में काम की भूमिकाओं में सॉफ्टवेयर डेवलपर्स, डेटा ऑपरेशंस स्पेशियलिस्ट, रिकॉन्सिलिएशन एनालिस्ट्स एवं इनवेस्टमेंट अकाउंटिंग और रिपोर्टिंग एक्सपर्ट्स के कौशल आधारित पद शामिल हैं।
आधारित पद शामिल हैं। अनुराग सिंह, मैनेजिंग डायरेक्टर, इंडिया फॉर क्लियरवाटर एनालिटिक्स ने कहा, "पिछले साल हमने भारत में एक शानदार प्रोडक्ट डेवलपमेंट टीम बनाई। हमें अभी बहुत कुछ करना है, इसलिए हम भारत में अपने सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के प्रयासों को स्केल कर रहे हैं। उन्होंने कहा भारत में टेलेंट बाजार की शक्ति क्लियरवाटर के कंपनीव्यापी प्रयासों के अनुरूप है।