क्लाउडकनेक्ट कम्युनिकेशंस ने वीकॉन्फ्रेंस लॉन्च किया
April 21, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 21 अप्रैल 2020 नई दिल्ली। रिमोट वर्किंग इकोसिस्टम के इनेबलर के रूप में नेतृत्व की स्थिति को मजबूती देते हुए भारत के पहले फुली रेगुलेटरी कम्प्लायंट मोबाइल-फर्स्ट वर्चुअल नेटवर्क ऑपरेटर क्लाउडकनेक्ट कम्युनिकेशंस ने वीकॉन्फ्रेंस लॉन्च किया है। अत्याधुनिक व्हाइट-लेबल सॉल्युशन वीकॉन्फ्रेंस ब्रांड्स के लिए एचडी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और वेबिनार को ‘कनेक्ट. कोलेबोरेट. ऑर्केस्ट्रेट.’ में सक्षम बनाता है।


कोविड-19 के प्रकोप के बीच कई कंपनियों ने रिमोट वर्किंग मॉडल को अपनाया है। अपनी टीमों से जुड़ने और व्यापार की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए कंपनियां ज्यादा से ज्यादा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सॉल्युशन पर निर्भर कर रही हैं। भारत में स्थापित और पोषित क्लाउडकनेक्ट कम्युनिकेशंस एक देशी सॉल्युशन प्रदान करता है जो तकनीकी रूप से मजबूत और अत्यंत सुरक्षित दोनों है।
प्लेटफ़ॉर्म का वेबआरटीसी-बेस्ड ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस रूम जो डेटाग्राम ट्रांसपोर्ट लेयर सिक्योरिटी (डीटीएलएस) और सिक्योर रियल-टाइम ट्रांसपोर्ट प्रोटोकॉल (एसआरटीपी) दोनों का इस्तेमाल करता है। यह मॉडरेटर्स को ‘मॉडरेटर-ऑन्ली एक्सेस, वन-टाइम पासवर्ड और पिन, कॉन्फ्रेंस रूम लॉक और यूजर ब्लॉकिंग फीचर जैसे उपकरणों का उपयोग कर वर्चुअल कॉन्फ्रेंस रूम को सुरक्षित करने की अनुमति देता है। प्लेटफार्म 128बी एन्क्रिप्शन के साथ वर्चुअल मीटिंग सिक्योरिटी का उच्चतम स्तर प्रदान करता है। सभी वॉयस और वीडियो कॉल पूरी तरह से एन्क्रिप्टेड हैं जबकि सभी प्रतिभागियों का मीडिया कंपनी के सर्वर पर एन्क्रिप्टेड है।
इसके अलावा चैट मैसेज एचटीटीपीएस के माध्यम से भेजे जाते हैं और एसएसएल/टीएलएस पर वेबसॉकेट्स के माध्यम से प्राप्त किए जाते हैं, जो दोनों ही अत्यधिक विश्वसनीय सिक्योरिटी प्रोटोकॉल हैं। डेटा प्राइवेसी के उच्च मानकों को बनाए रखने के लिए वीकॉन्फ्रेंस किसी भी थर्ड-पार्टी के साथ यूजर डेटा शेयर नहीं करता है। उदाहरण के लिए इसमें ‘फेसबुक या गूगल फीचर’ से लॉग-इन का फीचर नहीं है। अंत में प्लेटफॉर्म के डेस्कटॉप ऐप इंस्टॉलेशन को वेराकोड द्वारा सुरक्षित सत्यापित किया गया है और 2019 के अंत में यह पेनटेस्ट रन का एक हिस्सा था। सभी आवश्यक सुरक्षा मानदंडों का सख्ती से पालन करते हुए वीकॉन्फ्रेंस सभी कस्टमरों के लिए जीडीपीआर के सिद्धांतों और नियमों को लागू करता है, जो प्राइवेसी प्रोटेक्शन में गोल्ड स्टैंडर्ड है।
लीडिंग-एज सिक्योरिटी फीचर्स के अलावा वीकॉन्फ्रेंस एआई-लेड ट्रांसक्रिप्शन, ऑडियो और वीडियो रिकॉर्डिंग, इंटीग्रेटेड डायल-इन्स, लाइव वीडियो स्ट्रीमिंग और 100 प्रतिभागियों के साथ मीटिंग होस्ट करने जैसी अभिनव सुविधाएं पेश करता है। इसका ऑटो-टैग फीचर ऑटोमेटिकली रिकॉर्डिंग को ट्रांसक्रिप्ट करता है जबकि स्मार्ट सर्च टूल आपको मीटिंग ट्रांसक्रिप्ट के भीतर कीवर्ड खोजने की अनुमति देता है।  
नए लॉन्च पर बोलते हुए क्लाउडकनेक्ट कम्युनिकेशंस के सह-संस्थापक और सीआरओ श्री रमन सिंह ने कहा, “कोविड-19 संकट के कारण अधिकांश कंपनियों के कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं। भारत के पहले और इकलौते एंड-टू-एंड क्लाउड व मोबाइल एप-बेस्ड पीबीएक्स और इंटीग्रेटेड कम्युनिकेशन सर्विस प्रोवाइडर के रूप में तकनीक-समर्थित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सॉल्युशन विकसित करना हमारे लिए अगला कदम होना ही था। वीकॉन्फ्रेंस के साथ हमारा उद्देश्य कंपनियों को एक सुरक्षित सॉल्युशन प्रदान करना है जिस पर वे अपनी बैठकों और कॉन्फ्रेंस को बिना किसी बाधा पूरा करने के लिए भरोसा कर सकें।