खुद जागने और सरकार को जगाने का समय : संदीप बंसल 
December 4, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार बुधवार 04 दिसम्बर 2019 (परवेज़ अख्तर) नई दिल्ली। आज से 4 सौ वर्ष पूर्व ईस्ट इंडिया कंपनी जो एक अंग्रेज कंपनी थी व्यापार करने के लिए हमारे देश में आई थी और उस व्यापार के जरिए ईस्ट इंडिया कंपनी ने लगभग 200 साल तक देश को गुलाम बनाकर रखा जिसका दुष्परिणाम हम आज तक भुगत रहे हैं। आज अमेरिकन कंपनियां ऑनलाइन के जरिए मोबाइल द्वारा हमारे घर तक पहुंच चुकी है हमें लगभग आदत सी पड़ गई है कि हम हर चीज मोबाइल से ऑर्डर करके ऑनलाइन मंगवा रहे हैं यह भी ध्यान नहीं दे रहे कि हम जिस कंपनी को आर्डर कर रहे हैं वह हिंदुस्तान की है या विदेशी है।
जिस देश में कई बार गुलामी की मार को झेला हो कम से कम उस देश में तो दूध का जला छाछ फूंक कर पीता है। इस कहावत को चरितार्थ होना चाहिए परंतु दुर्भाग्य है कि हम इन अमेरिकन कंपनियों को जो पहले ही विश्व की सबसे बड़ी कंपनियों में है और ताकत देने में लगे हैं।
देश के खुदरा व्यापार को जिंदा रखने के लिए इन बहुराष्ट्रीय विदेशी कंपनियों पर नकेल कसते हुए नियामक आयोग का गठन किया जाए ताकि देश का परंपरागत खुदरा व्यापार जिंदा रहे इसलिए 15 दिसंबर को उत्तर प्रदेश बंद खुदरा व्यापार बंद भारत बंद का आवाहन किया गया है जिसमें *आप सब का सहयोग* अपेक्षित है।