खंडवा में कमांडो 3 मूवी का पहलवानों ने किया विरोध थिएटर में लगाया ताला
December 3, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 03 दिसम्बर 2019 खंडवा। पिछले सप्ताह प्रदर्शित हुए फिल्म कमांडो 3 देशभर में अच्छा प्रदर्शन कर रही थी। रिलीज के शुरुआती दिनों में फिल्म ने ठीकठाक आय अर्जित कर ली है। प्रारंभिक हफ्ते में ही फिल्म ने 10 करोड़ रुपए कमा लिए थे। देशभर में प्रदर्शन के साथ ही फिल्म को खंडवा शहर में भी रिलीज किया गया था। फिल्म की माउथ पब्लिसिटी के कारण ठीकठाक रिस्पांस भी मिल रहा था हालांकि इस बीच यह फिल्म विवाद में भी फंस गई है। खंडवा में जन्मे अर्जुन पुरस्कार विजेता कृपाशंकर बिश्नोई ने अपने फेसबुक के माध्यम से पूरे देश के पहलवानों से आव्हान किया था कि इस फिल्म में दिखाए गए आपत्तिजनक दृश्य को हटाया जाए जो पहलवानों की गरिमा को ठेस पहुंचा रहा था कुश्ती के अंदर अब महिलाएं भी बढ़-चढ़कर भाग ले रही है ऐसे में नेगेटिव चीन को दिखाना कुश्ती खेल की गरिमा को चोट पहुंचाना माना जा रहा था कृपा शंकर का जन्म 5 अगस्त 1977 को खंडवा में हुआ आज भारी संख्या में पहलवान खिलाड़ी शहर के अभिषेक टॉकीज पहुंचे जहां यह फिल्म लगी हुई है।


कमांडो 3 की फि़ल्म की कहानी में पहलवानों का अहम रोल है। इस फिल्म के एक दृश्य की वजह से पहलवानों में ही रोष बढ़ रहा है। फिल्म में एक सीन में एक पहलवान की जो हरकत बताई गई है उससे सभी पहलवान नाराज हो रहे हैं। फिल्म में एक पहलवान को एक स्कूली बच्ची के कपड़े उतारने की कोशिश करते हुए बताया गया है। फिल्म का यह सीन रिलीज के पहले ही विवादों में आ गया था।
सोशल मीडिया में इस दृश्य के लिए फिल्म के एक्टर, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर्स आदि की जबर्दस्त आलोचना भी की गई थी। इस सीन को फिल्म से हटाने की भी मांग की गई थी पर सेंसर बोर्ड ने भी इस दृश्य को पास करते हुए फिल्म को रिलीज होने दिया। अब जगह-जगह इस सीन का विरोध करते फिल्म का प्रदर्शन रोका जा रहा है।
फिल्म के इस दृश्य का विरोध करते हुए फि़ल्म के प्रदर्शन को बंद करवा दिया खंडवा में भी भारी मात्रा मैं पहलवान और समर्थक  ट्रैक्टर पहुंचे  वह फिल्म के इस दृश्य का विरोध करते हुए फिल्म के प्रदर्शन को बंद करवा दिया गया है वह थिएटर में ताला लगवा दिया । मध्य प्रदेश के खंडवा शहर में कुछ पहलवान और राजनेैतिक कार्यकर्ता दोपहर में अभिषेक टाकीज परिसर पहुंचे। यहां पुलिस भी पहुंच गई लेकिन लोगों के विरोध के बाद फिल्म का प्रदर्शन बंद कर दिया गया।