जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी
November 26, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार समाचार 26 नवंबर 2019 (अनुराग शुक्ला),मौदहा,हमीरपुर। देश की सबसे बड़ी योजना प्रधानमंत्री आवास के लिए जहां भारत सरकार भारी भरकम बजट खर्च कर रही है।वहीं जमीनी स्तर पर इस योजना को किस प्रकार पलीता लगाया जा रहा है इसकी जानकारी करने के लिए आपको मौदहा विकास खण्ड के गांव भैंसता जाना होगा।लेकिन अधिकारियों को वहां जाने के लिए समय नहीं है।मौदहा विकास खण्ड के ग्राम भैसंता मे ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान और सचिव पर प्रधानमंत्री आवास योजना में पैसे लेने के साथ साथ भेदभाव करने के भी आरोप लगाए हैं।ग्राम के ही शिवराम उर्फ बाबू जी पुत्र चिरंगा आखो से दिब्यांग है।और खुले में शौच जाने के कारण एक बार कुएँ मे भी गिर चुके हैं।जिन्हें ग्रामीणों की सहायता से बचा लिया गया था।उनके पास आवास,शौचालय तथा उज्जवला योजना के तहत मिलने वाली गैस आदि कोई लाभ नहीं मिला है। वैसे तो सरकार आरक्षण का ढिंढोरा पीटती है।तो दिब्यांग कोटे के तहत मिलने वाला आरक्षण कहा है।वहीं ग्राम के ही चुन्नू पुत्र मंगी ने बताया कि ग्राम प्रधान ने आवास आवंटन पर दस हजार रुपये लिए हैं।जबकि बच्चा पुत्र छक्का ने बताया कि ग्राम प्रधान ने उससे आवास के लिए बारह हजार रुपये लिए हैं।वही गांव मे ऐसे ही अनेक भूमिहीन परिवार हैं।जो मजदूरी कर अपनी गुजर बसर कर रहे हैं लेकिन उन्हे आवास योजना का लाभ नहीं मिला है।वहीं गांव की राजरानी उर्फ रन्नो पत्नी स्व.बच्चा को भी आवास योजना का लाभ नहीं मिला है।