इंडिरो ग्लोबल ने पेश की इंटीरियर टेक्नोलॉजी; ‘पॉवर प्लस’ ट्रैक्स,वायरलेस सॉकेट्स और स्विच लॉन्च किया 
November 16, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार शनिवार 16 नवंबर 2019 नई दिल्ली। इंटीरियर टेक्नेलॉजी जैसे नए क्षेत्र में भारत की पहली कंपनी इंडिरो ग्लोबल ने हाल ही में अपना पहला और फ्लैगशिप प्रोडक्ट 'प्रोडक्ट प्लस बाय इंडिरो' अपनी वेबसाइट पर बेचने के लिए लॉन्च किया है। स्टार्ट-अप का लक्ष्य बिजली की खपत को समझने के तरीके में बदलाव लाना है और उसने जो नए प्रोडक्ट्स पेश किए हैं। इनमें 6 फीट की लंबाई तक जा सकने वाला पॉवर ट्रैक, अलग-अलग एम्पीयर के यूनिवर्सली स्वीकार्य सॉकेट्स, लैन एडॉप्टर आदि जैसी सॉकेट बढ़ाने वाली एसेसरी शामिल है। पॉवर ट्रैक 5 किलोवॉट तक के लोड को सपोर्ट कर सकता है और एक समय में 25-30 उपकरणों को एक ही समय में कनेक्ट कर सकता है!


पॉवर प्लस बाय इंडिरो वास्तव में क्या है? दीवार पर स्थित पावर आउटलेट की सीमाओं के बंधन को तोड़ते हुए पॉवर प्लस बाय इंडिरो भारत में पेश किया जाने वाला पहला फ्लेक्जिबल पॉवर आउटलेट सिस्टम है।
यह अनिवार्य रूप से एक लंबी railway पॉवर रेलवे लाइन 'प्रकार की है, जो आसानी से किसी स्पेस या टेबल स्कर्टिंग की दीवारों के साथ फिट हो सकती है और उपयोगकर्ताओं को अपने उपकरणों में जहां कहीं भी है, वहां प्लग करने की अनुमति देती है। Indyro द्वारा प्रस्तुत सॉकेट सार्वभौमिक रूप से अनुकूलनीय हैं, जो गैर-संगतता की समस्या से छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा, सहायक उपकरण सॉकेट्स में कई उपयोगिताओं को जोड़ने में मदद करते हैं, जो आसानी से वाई-फाई एडेप्टर के रूप में काम कर सकते हैं या आसानी से कॉर्पोरेट स्पेस की जरूरतों के अनुकूल एक लैन केबल से जुड़ सकते हैं। आवश्यकता के अऩुसार यह एक लंबी 'पॉवर रेलवे लाइन' की तरह है जो किसी जगह की दीवार या टेबल के सिरों पर आसानी से फिट हो सकता है और उपयोगकर्ताओं को अपने उपकरणों को कहीं से प्लग-इन कर सकते हैं। इंडिरो की ओर से उपलब्ध कराए जा रहे सॉकेट्स यूनिर्वसली एडॉप्टेबल है, जो कम्पैटिबल न होने की समस्या को दूर करता है। इसके अलावा एसेसरीज सॉकेट्स से कई यूटिलिटी जोड़ने में मदद करती है, जो एक वाइ-फाई एडॉप्टर की तरह काम कर सकता है या लैन केबल से कनेक्ट हो सकता है। यह कॉर्पोरेट जगहों की आवश्यकताओं को बड़ी आसानी से अनुकूलित बनाता है।
पॉवर प्लस बाय इंडिरो के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है इसका आसानी से इस्तेमाल योग्य फीचर। पॉवर प्लस बाय इंडिरो को किसी भी तरह की री-वायरिंग, दीवारों को तोड़ने या खुरेचने या बहुत ज्यादा रिनोवेशन काम करने की जरूरत नहीं है। यह बिजली के मौजूदा ढांचे में बड़ी आसानी से फिट हो सकता है। इस प्रकार, यह अपने पॉवर फ्रेमवर्क में बिना किसी भारी-भरकम बदलाव के जर्जर इमारतों, प्राचीन या ऐतिहासिक महत्व की संरचनाओं या अन्य जगहों के लिए त्वरित, दीर्घावधि, इनोवेटिव और कॉस्ट-इफेक्टिव विकल्प के रूप में कार्य करता है। इसके अलावा पॉवर प्लस बाय इंडिरो में सॉकेट्स और ट्रैक्स में सौंदर्य डिजाइन का तत्व शामिल हैं, जो यूजर्स की मर्जी पर चलाया जा सकता है और इसे कुशल विज्ञापन विकल्पों के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। पॉवर प्लस बाय इंडिरो के साथ इंडिरो ने भारत में इंटीरियर टेक्नोलॉजी डोमेन को भारत के बाजार में उतारा है। पुराने पॉवर सॉकेट्स को जिस तरह देखा जाता था, उसे ही हमने बदल दिया है!