हिंद महासागर से पोत खदेड़े जाने पर चीन की सफाई- शोध नहीं, पानी का उतार-चढ़ाव माप रहे थे
December 7, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचारवार शनिवार 07 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। चीनी अनुसंधान पोत शी यान 1 को भारतीय जल सीमा से खदेड़े जाने के बाद अब चीन ने सफाई दी है। चीनी विदेश मंत्रालय ने भारतीय क्षेत्र में इस जहाज द्वारा किसी भी प्रकार का शोध कार्य किए जाने से इनकार किया है। चीन ने कहा कि हमारा अनुसंधान पोत भारत के विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र (अंडमान निकोबार) के पास से सितंबर में गुजरा था। लेकिन, इसने वहां कोई परीक्षण नहीं किया। हमारा मकसद सिर्फ पानी का उतार-चढ़ाव मापना था।

चीनी विदेश मंत्रालय के अनुसार, इस जहाज का काम हिंद महासागर के खुले क्षेत्र में पैदा होने वाली ध्वनि तरंगों की जांच करना और पानी के उतार-चढ़ाव को मापना था। इसने पूरी प्रक्रिया के दौरान भारतीय क्षेत्र में कोई प्रयोग नहीं किए। वह केवल इस क्षेत्र से होकर गुजरा था। ये तथ्य जहाज के ऑपरेशनल प्लान्स, लॉगबुक्स और जीपीएस ट्रैक से साबित होते हैं।  बता दें कि तीन दिसंबर को भारतीय नौसेना ने अंडमान-निकोबार के समीप अपने जलक्षेत्र में अवैध रूप से घुसे एक चीनी अनुसंधान पोत शी यान 1 को खदेड़ दिया था। इस पोत की खोज भारतीय निगरानी विमान पी8आई ने किया था। यह जलपोत पोर्ट ब्लेयर के पास भारतीय जल क्षेत्र में कथित रूप से अनुसंधान गतिविधियों को अंजाम दे रहा था।