हमीरपुर नगर पालिका द्वारा गवाहों पर बनाया जा रहा है दबाव
December 11, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार बुधवार 11 दिसम्बर 2019 (आशीष निगम) मौदहा,हमीरपुर। कस्बे की स्थानीय सब्जी मंडी विवाद अब न्यायालय के परिक्षेत्र से कोतवाली मौदहा तक पहुंच गया है।नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी ने अपने कर्मचारी की तहरीर पर एवं अपनी ओर से एक तहरीर कोतवाली मौदहा मे देते हुए बताया कि, जब नगरपालिका कर्मचारी स्थानीय थाने के सामने लगी सब्जी की दूकानों को हटाने के लिए उक्त स्थान पर दूकानदारों को नोटिस देने के लिए गये थे।तभी कस्बे के ही शहजादा पुत्र नजमुद्दीन, सलीम पुत्र बच्चू व अशोक पुत्र अज्ञात आगये।और नगरपालिका कर्मचारियों को धमकाने लगे कि अब दोबारा यहां आये तो तराजू बांट से मार मार कर ठीक कर देंगे।

और कर्मचारियों को मारने की धमकी देने लगे।जिससे कर्मचारी मौके से चले आये।उसके बाद उक्त शहजादा व सलीम नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी के कार्यालय में आये और कहने लगे कि आपको नोटिस भेजने का अधिकार नहीं है।और अगर दोबारा नोटिस भेजा तो सब्जी विक्रेताओं को नगरपालिका मे एकत्र कर घुसेड दिया जायेगा और नगरपालिका को तहस नहस कर दिया जायेगा।अधिशासी अधिकारी नगरपालिका और नगरपालिका कर्मचारी की तहरीर मे कोतवाली पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने सहित कई मामलों में शहजादा,सलीम और अशोक के विरुद्ध आईपीसी की धारा 332/353/427/504/506 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।वही उक्त मामले में आरोपी बनाए गए सलीम ने बताया कि सब्जी मंडी को लेकर जब न्यायालय ने यथा स्थिति बनाए रखने का आदेश जारी कर दिया था।तो उसके बाद भी सब्जी मंडी की सब्जी नगरपालिका कर्मचारियों ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से भर भरवा ली थी।जो माननीय न्यायालय के आदेश की अवहेलना है।और उक्त प्रकरण में हम सभी लोग न्यायालय में गवाह बने हुए हैं।इस लिए नगरपालिका अधिशासी अधिकारी ने उक्त मामले में गवाहों पर दबाव बनाने के लिए विद्वेष की भावना के तहत हमारे ऊपर झूठा मामला दर्ज करवाया है।जो पूरी तरह से निराधार है।