हमीरपुर में नियमों को ताक में रखकर हो रही है तालाब खुदाई,ग्रामीणों ने की जांच की मांग
April 30, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 30 अप्रैल (आशीष निगम), हमीरपुर। मुस्कुरा विकासखंड के न्यूरिया गांव में लघु सिंचाई विभाग से तालाब खुदाई के कार्य में भारी धांधली किए जाने की शिकायतें जिला अधिकारी सहित प्रशासन से की गई हैं ।आरोप लगाया गया है कि जेसीबी और पोकलैंड से खुदाई करने के साथ ही तालाब की मिट्टी को धढल्ले से ग्रामीणों में बेचा जा रहा है ।वहीं सोशल डिस्टेंस को धता बताते हुए बड़ी संख्या में लोग वहां काम के लिए बुलाए जाते हैं।जिन को मास्क भी लगाने की जान कारी दी जाती है।


जिस तालाब की खुदाई का ठेका लघु सिंचाई  विभाग ने दिया है वहां पहले से ही जगदीश कुमार धुरिया का मछली पालन का पट्टा था।पट्टे दार की मछलियां पाली हुई थी। उसका आरोप है कि उसके लगभग 1.80000 लाख रू.की लागत लगने के बाद ठेकेदार ने लाक डाउन का लाभ उठाते हुए उसकी सभी मछलियों को तहस-नहस कर तालाब का पानी निकाल कर कर उसमें खुदाई चालू करा दी चालू करा दी।
गांव निवासी रामपाल कुशवाहा ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र भेजकर को शिकायती पत्र भेजकर कहा है कि गांव के तालाब गाटा संख्या 650 जो एक हेक्टर से अधिक से अधिक से अधिक है की खुदाई के कार्य में भारी धांधली की जा रही है ।यहां सोशल डिस्टेंस का कोई मतलब नहीं रहा और तालाब की मिट्टी धढल्ले से बेची जा रही है। उसका आरोप है कि खुदाई की जो लेयर जो लेयर लेयर मशीनों से कराई जा रही है उसमें भी धांधली है जांच कर कार्यवाही की मांग की है और जब तक जांच पूरी ना हो भुगतान बाकी यह जाने जाने का निवेदन भी किया है।