हमीरपुर में करंट लगने से गिरा लाइनमैन गंभीर, अधिकारियों ने बताया सडक हादसा
June 14, 2020 • Daily Shabdawani Samachar


शब्दवाणी समाचार, रविवार 14 जून 2020, (आशीष निगम), हमीरपुर। बिजली विभाग इस समय अल्पसख्यक आबादी वाले गांव मे बिजली आपूर्ति के लिये केबिल डलवाने का कार्य शुरू किये है। भीषण गर्मी के चलते लाईनो का कार्य पूरा न हो पाने से माचा गांव मे बीती रात बिजली न होने की वजह से विवाद बढ गया। जिससे गांव मे काम करने वाले प्राईवेट लाईन मैन जो अक्सर बिजली की लाईनों ठीक करते है। खम्बे पर चढते ही करण्ट का झटका खाकर नीचे गिर गया। यह देख आनन फानन गांव प्रधान का बेटा अपने निजि वाहन से उसे अपने निजि वाहन से कस्बे के सरकारी अस्पताल लाया। हालत गम्भीर होने पर उसे पहले हमीरपुर और फिर कानपुर हैलट अस्पताल के लिये रिफर कर दिया। युवक की हालत मे सुधार बताया गया है किन्तु बिजली विभाग के स्थानीय अधिकारी इस पूरी घटना से साफ इन्कार कर रहे है और इस दुर्घटना को वह सडक दुर्घटना बताकर  पल्ला झाड रहे है। 


उपखण्ड अधिकारी विधुत विभाग राकेश कुमार ने बताया कि मदारपुर , नरायच , भमौरा आदि गांव मे पुराने तारो को बदलकर केबिल डलवायी गयी है। और अब माचा गांव मे एक निजि कम्पनी के ठेकेदार केबिल डलवाने का काम कर रहे है। जिसका लोग विरोध कर रहे है और कार्य होने नही दे रहे। गांव मे केबिल डलवाते समय एक बडी आबादी की बिजली कट गयी और इसके लिये उमस भरी गर्मी मे रात मे ही लोग बिजली आपूर्ति की मांग करते हुये घरो से निकल आये। तभी सम्बन्घित ठेकेदारो ने इस लाईन मैन के मनसुख से मिलकर प्राईवेट तरीके से काम करने वाले बरदानी (3)पुत्र रामनारायण खम्बे मे चढ गया और करण्ट खाकर गिर गया। हालाकि बिजली से तो वह बच गया किन्तु खम्बे से गिरने से उसे खासी चोटे आयी। इस सम्बन्ध मे  जब उपखण्डाधिकारी से जानकारी चाही गयी कि आखीर लाईन पर चढने वाला युवक वैतनिक अथवा सविदा कर्मी है तो उन्होने बरदानी नाम के किसी भी युवक की जानकारी से इन्कार करते हुये कहा कि लोग गांव मे काम नही होने देना चाहते । वहां पहुचें अवर अभियन्ता ने उन्हे बताया कि सिलौली निवासी एक युवक आटो से टकराकर चुटहिल हुआ और इतनी बडी घटना को पूरी तरह से नकार दिया। जबकि लाईन मैन अपनी जिन्दगी और मौत से जूझ रहा है। गांव प्रधान जव्वाद अहमद ने बताया कि रात मे जब बरदानी खम्बे से गिरा तक उन्हे जानकारी मिली तो उन्होने उसे अपने  बेटे के माध्यम से इलाज के लिये अस्पताल पहुंचाया।