हमीरपुर में छेडछाड पीडिता ने बिंवार थाना प्रभारी पर लगाये आरोप
May 28, 2020 • Daily Shabdawani Samachar


शब्दवाणी समाचार, वीरवार 28 मई  2020, (आशीष निगम), हमीरपुर। बिंवार थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी एक युवती ने क्षेत्राधिकारी मौदहा सौम्या पाण्डेय को दिये अपने शिकायती पत्र में छेडछाड के आरोपियों को बचाने सहित पीडित की तहरीर के बजाये अपनी रिखाई तहरीर के आधार पर साधारण धाराओं में मामला दर्ज करने का आरोप लगाया है।हालांकि बिंवार थाना पुलिस पर लगने वाला यह आरोप नया नहीं है।अभी इसी माह एक सडक हादसे में पीडित ने क्षेत्राधिकारी को तहरीर देकर मनमाफिक तहरीर लिखवाकर मामला दर्ज करने का आरोप लगाया था।


बिंवार थाना क्षेत्र के ग्राम पारा निवासी एक युवती ने क्षेत्राधिकारी मौदहा सौम्या पाण्डेय को दिए अपने शिकायती पत्र में बताया कि दिनांक पांच मई को वह गांव में ही मनरेगा योजना के अन्तर्गत हो रहे बंधी निर्माण में काम करने गई थी।उस समय उसका भाई,मां और बहिन भी थे।पीडिता ने बताया कि जब वह पानी की बोतल लेने अपनी मां के पास गई थी।तभी गांव के ही धीरेन्द्र पुत्र कबीर दास और अरुण कुमार पुत्र रघुवीर दास ने पीडिता को घेर कर पकड लिया और अश्लील हरकतें करने लगे।प्रार्थिया द्वारा शोर मचाने पर मां,बहिन के साथ ही अन्य मजदूरों के आ जाने के कारण उक्त दोनों आरोपियों के भाई दीपक कुमार और राजवीर भी आगये और अपने भाईयों का पक्ष लेने लगे।उस समय तो मामला शांत हो गया लेकिन दोपहर को जब हम लोग लंच करने घर जा रहे थे तभी गांव.के बाहर उक्त लोगों ने घेर लिया और गाली गलौज के साथ ही मार पीट करने लगे। 
सबसे बड़ी बात यह है कि पीडिता ने चौकी प्रभारी कुनेहटा पर मामले को रफा दफा करने और थाना बिंवार पर अपनी मनमाफिक तहरीर के आधार पर मामला दर्ज करने का आरोप लगाया है।बिंवार थाना प्रभारी पर इससे पहले भी इस तरह के आरोप लग चुके हैं।वहीं क्षेत्राधिकारी सौम्या पाण्डेय ने पीडिता को निष्पक्ष जांच का भरोसा दिलाया है।जबकि कुनेहटा चौकी प्रभारी आर.एल.सरोज ने बताया कि मामला मनरेगा योजना के काम करने के दौरान मारपीट का है।जबकि उसे छेडछाड मे बदलने की कोशिश की जा रही है।जबकि आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर दिया गया है।