गेल को "प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंपनी ऑफ द ईयर" 2019 के रूप में सम्मानित किया गया
December 4, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार बुधवार 04 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। प्रधान मंत्री उरजा गंगा पाइपलाइन परियोजना के चरण 1 को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए गेल (इंडिया) लिमिटेड को "प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंपनी ऑफ द ईयर" से सम्मानित किया गया है। यह सम्मान माननीय केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने गेल के सीएमडी और निदेशक (परियोजना) को दिया, डॉ। आशुतोष कर्नाटक ने निदेशक (विपणन) श्री गजेन्द्र सिंह, निदेशक (व्यवसाय विकास) श्री। मनोज जैन, निदेशक (वित्त) श्री एके तिवारी और कार्यकारी निदेशक (परियोजना) श्री एमवी अय्यर फेडरेशन ऑफ इंडियन पेट्रोलियम इंडस्ट्री (FIPI) ऑयल एंड गैस इंडस्ट्री एनुअल अवार्ड्स 2019 समारोह में कल नई दिल्ली में आयोजित हुए।


गेल (इंडिया) लिमिटेड ने जगदीशपुर - हल्दिया बोकारो-धामरा और बरौनी - गुवाहाटी प्राकृतिक गैस पाइपलाइन के पहले चरण को सफलतापूर्वक पूरा किया, जिसे परियोजना प्रबंधन के लिए उन्नत उपकरणों का उपयोग करते हुए प्रधान मंत्री उर्जा गंगा पाइपलाइन परियोजना के रूप में जाना जाता है। सोन और गंगा जैसी प्रमुख नदियाँ, समय और बजट के भीतर, इसके निष्पादन के दौरान उच्चतम सुरक्षा मानकों को बनाए रखते हुए।
'प्रधानमंत्री उर्जा गंगा' पाइपलाइन के चरण 1 को 17 फरवरी, 2019 को माननीय प्रधान मंत्री द्वारा देश को समर्पित किया गया। 2655 किलोमीटर लंबी JHBDPL परियोजना उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल को कवर करती है और 729 किलोमीटर पाइपलाइन के माध्यम से बरौनी से गुवाहाटी (असम) तक विस्तारित किया जा रहा है।
बरौनी, सिंदरी और गोरखपुर में उर्वरक इकाइयों को पुनर्जीवित करने के लिए प्राकृतिक गैस पाइपलाइन महत्वपूर्ण होगी और पटना, पटना, वाराणसी, रांची, जमशेदपुर, भुवनेश्वर, कटक, कोलकाता और अन्य शहरों में पाइपलाइन से घरों और वाहनों के लिए प्राकृतिक गैस की आपूर्ति करेगी। पर्यावरण के अनुकूल, सुविधाजनक और किफायती प्राकृतिक गैस की उपलब्धता भी प्रदूषण के स्तर को कम करने में मदद करेगी। परियोजना के निष्पादन से हजारों लोगों के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार उत्पन्न होने की उम्मीद है।