ईबे ने इंटरनेशनल जेमोलॉजिकल संस्थान के साथ साझेदारी की घोषणा किया
August 8, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 08 अगस्त 2020, नई दिल्ली। भारतीय निर्यात में सबसे महत्वपूर्ण श्रेणियों में से एक में वरीयता प्राप्त करने के उद्देश्य से भारत में ईबे ने अंतर्राष्ट्रीय जेमोलॉजिकल संस्थान (आईजीआई) के साथ साझेदारी की घोषणा की। दुनिया में अपनी तरह का सबसे बड़ा संगठन आईजीआई विश्व में सबसे ज्यादा विविध प्रकार के रत्न और गहनों को प्रमाणित करने में अत्यधिक विश्वसनीय नाम है।
भारतीय विक्रेताओं के लिए ईबे द्वारा शुरू किए गए रत्न और आभूषण प्रमाणन कार्यक्रम (जीजेसीपी) का मुख्य उद्देश्य वैश्विक बाजार में देश के आभूषण उद्योग का समर्थन करना और ईबे को उत्कृष्ट आभूषणों के एकमात्र गंतव्य के रूप में स्थापित करना है। विक्रेता अब अपने उत्पादों को खास भारतीय ईबे विक्रेता समुदाय के लिए उपलब्ध सर्वाधिक प्रतिस्पर्धी मूल्यों पर आइजीआई से प्रमाणित करा सकते हैं।
ईबे में इंडिया कंट्री मैनेजर, श्री विद्मय नैनी इस लॉन्च पर कहती हैं, “ईबे में हमारा उद्देश्य अपने विक्रेताओं को दुनिया भर में ज्यादा ग्राहकों को पाने का मौका देना और वैश्विक ग्राहकों को पाने के लिए जरूरी सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले प्रोडक्ट उपलब्ध कराना है। आईजीआई के साथ हमारी भागीदारी इसी दिशा में एक कदम है। उत्कृष्ट आभूषण खरीदते वक्त पारदर्शिता और प्रामाणिकता, ये दो चीजे हैं, जिन पर विचार करना सबसे जरूरी है। वर्तमान परिदृश्य में, ज्यादातर खरीदारी ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर हो रही है, ऐसे में, केवल यह कहना उचित है कि उपभोक्ता जो भी खरीदते हैं, उसमें प्रामाणिकता की उम्मीद करते हैं। इसलिए डायमंड ज्वेलरी और स्टोन का प्रमाणन ईबे पर खरीदारों और विक्रेताओं दोनों में विश्वास बढ़ाएगा।


वह आगे कहते हैं, "लूज डायमंड्स और जेमस्टोन श्रेणी ने जीजेईपीसी प्रमाणन कार्यक्रम की शुरुआत के साथ पिछली तिमाही में एक सशक्त उछाल देखा है। प्रमाणन के जरिये वैश्विक स्तर पर खरीदारों के बीच भरोसा पैदा करने के साथ-साथ उच्च कीमत के रत्नों की मांग को पूरा करना ईबे आईएनसीबीटी का रणनीतिक दृष्टिकोण रहा है। हम इसे 2020 और उसके बाद भी इसी तरह जारी रखेंगे।
आईजीआई में प्रबंध निदेशक श्री तेहमासप प्रिंटर कहते हैं, “ आईजीआई में हम ईबे के साथ  इस जुड़ाव को एक क्रांतिकारी अनुभव की शुरुआत मानते हैं। आईजीआई प्रमाणन के साथ, ग्राहक अब अपने गहनों की ऑनलाइन खरीद कर सकते हैं, जिन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित ग्रेडिंग मानकों और प्रथाओं के अनुसार मान्यता दी गई है। हम अपनी सेवाओं के दम पर ईबे पर खरीदारों को सशक्त बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।
भारतीय ईबे विक्रेता तीन सरल चरणों में रत्न और आभूषण सर्टिफिकेट कार्यक्रम का लाभ उठा सकते हैं:
1. ईबे मार्केटप्लेस पर जेमस्टोन और फाइन ज्वेलरी आइटम बेचें
2. ऐसे फाइन ज्वेलरी आइटम्स के लिए आईजीआई सर्टिफिकेशन अप्लाई करें और प्राप्त करें
3. खरीदारों को आईजीआई प्रमाण पत्र के साथ प्रमाणित उत्कृष्ट आभूषण को भेज दें
ज्‍यादा जानकारी के लिए देखें, https://bit.ly/GemsAndJewelryCertification