दिल्ली भीषण अग्निकांड ने लील ली 43 जिंदगियां, फैक्टरी मालिक रिहान और मैनेजर फुरकान गिरफ्तार
December 9, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार सोमवार 09 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। दिल्ली के सदर बाजार इलाके में रविवार तड़के करीब 5 बजे लेडीज पर्स, बैग और प्लास्टिक आइटम बनाने की चार मंजिला फैक्टरी में भीषण आग लग गई। हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई जबकि 17 लोग बुरी तरह झुलस गए हैं। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस के अलावा दमकल विभाग और बचाव दल की अन्य टीमें मौके पर पहुंची। हादसे के समय बिल्डिंग में 100 से अधिक लोग फंसे थे। 40 लोगों को किसी तरह सुरक्षित बाहर निकल लिया गया जबकि 60 लोगों को धीरे-धीरे अचेत अवस्था में निकालकर नजदीकी अस्पतालों में पहुंचाया गया। वहां 43 को मृत घोषित कर दिया गया जबकि 17 का इलाज जारी है। बताया जा रहा है कि मरने वालों में कई नाबालिग भी शामिल हैं। ज्यादातर मौत धुंए में दम घुटने की वजह से हुई। शुरुआती जांच के बाद आशंका व्यक्त की जा रही है कि आग शार्ट सर्किट के कारण लगी। 


अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि आग लगने की जानकारी सुबह पांच बजकर 22 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 34 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। दिल्ली सरकार ने मृतकों के परिजनों के लिए 10-10 लाख और घायलों के लिए 1-1 लाख रुपये मुआवजे का एलान किया। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों के लिए 50-50 हजार रुपये की सहायता की घोषणा की है। भाजपा की दिल्ली ईकाई ने भी 5-5 लाख रुपये की सहायता देगी।
केंद्रीय मंत्री और चांदनी चौक से बीजेपी सांसद डॉ. हर्षवर्धन ने घटनास्थल का दौरा किया। उन्होंने कहा कि आज जो कुछ हुआ है, वह बहुत दर्दनाक है। हम कोशिश कर रहे हैं कि घायलों को अच्छी सुविधा उपलब्ध हो सके। इसके बाद उन्होंने एलएनजेपी अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात की।