दीपाली सिन्हा, ने बतौर 'कथकली डांस आर्टिस्ट' एक नई पारी की शुरुआत की
January 7, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 07 जनवरी 2020 नई दिल्ली। कथकली मेकअप की दुनिया में नाम कमाने वाली दीपाली सिन्हा, ने अब बतौर 'कथकली डांस आर्टिस्ट' एक नई पारी की शुरुआत की है। रविवार को दक्षिण दिल्ली के कुतुब इंस्टिट्यूशनल एरिया में स्थित 'दि इंटरनेशनल सेंटर फॉर कथकली' में दीपाली ने एक डांस आर्टिस्ट के तौर पर अपना पहला कार्यक्रम प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम में मशहूर टीवी कलाकार अभिनव कान्त चतुर्वेदी उर्फ नन्हें मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। विशेष अतिथियों में बिजनेस एडवाइजर कमेंटेटर और मीडिया पैनलिस्ट शरद कोहली, जाने-माने शायर और पत्रकार आलोक श्रीवास्तव, राजस्थान अकैडमी और लायंस क्लब चार्टर के प्रेसिडेंट गौरव गुप्ता और कथकली सेंटर की मैनेजिंग कमेटी के कोषाध्यक्ष रवि नायर मौजूद रहे। मंच का संचालन उनकी बेटी शुभी सिन्हा और जाने माने टीवी जर्नलिस्ट राघवेंद्र द्विवेदी नें किया। 


उत्तर भारत की पहली कथकली मेकअप आर्टिस्ट दीपाली सिन्हा ने 11 साल तक कथकली नृत्य कलाकारों का मेकअप करने के बाद खुद नृत्य-विधा सीखने का काम शुरू किया। मेकअप के चुनौतीपूर्ण दि काम को करने के साथ साथ वो कथकली का नृत्य भी सीखती रही। कथकली गुरु जगदीशन जी से नृत्य की बारीकियां सीखीं और रविवार को उन्होंने अपना पहला नृत्य प्रस्तुत कर जीवन की नई पारी की शुरूआत की।
बातचीत में दीपाली ने बताया कि ये मौका उनके लिए बेहद ख़ास था और किसी सपने के पूरा होने जैसा था। अब तक पर्दे के पीछे मेकअप के ज़रिए किरदार उभारने का काम करने के बाद उन्हें मंच पर अपनी नृत्य कला का प्रदर्शन करने का मौका मिला। कार्यक्रम में आए लोगों ने भी दीपाली के नृत्य की भरपूर सराहना की। मंच के पीछे भूमिका निभाते हुए मंच पर आने में उनको 11 साल लगे और इस दौरान कथकली के लिए उनका समर्पण और उनकी प्रतिबद्धता काबिले-तारीफ़ रही। सामाजिक कार्यों में भी दीपाली की गहरी रुचि है। वो एक पर्यावरणविद हैं और डब्ल्यू मार्स (वेस्ट मैनेजमेंट एंड रिसाइकिलिंग सोसाइटी) की चैयरपर्सन भी हैं। उनकी संस्था डब्ल्यू मार्स पर्यावरण बचाने के लिए काम करती है। फिलहाल सिंगल यूज प्लास्टिक के ख़िलाफ़ अभियान चला रही है।