बाल दिवस पर दिखाई गयी बच्चों की फिल्में 
November 15, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 15 नवंबर 2019 नई दिल्ली। बाल दिवस के सुअवसर पर बच्चों की फिल्मों का आयोजन किया गया बारहवें ग्लोबल फिल्म फेस्टिवल के दुसरे दिन, जिसमें कई स्लम एरिया के बच्चों को फिल्म दिखाई गयी और उनको एजुकेशन के लिए प्रेरित किया गया। ग्लोबल फिल्म फेस्टिवल के दूसरे दिन फिल्म के साथ कई रंगारंग कार्यक्रम हुए जिसमें कई जानी हस्तियां शिरकत करने पहुंची जिसमें जाने माने करैक्टर आर्टिस्ट विक्रम गोखले, रोमानिया के राजदूत राडू ऑक्टेवियन डोबरे, फिल्म मेकर सचिन्द्र शर्मा, एक्ट्रेस मीरा चोपड़ा, मराठी एक्टर चार्ल्स थॉमसन, मिस यूक्रेन डेरीना गोर्डिएको और लॉयर अनूप बोस थे।  


इस अवसर पर विक्रम गोखले ने छात्रों को फिल्म और एक्टिंग के गुण सिखाये उन्होंने कहा की हर एक्टर को हर किरदार में ढालना आना चाहिए, कोई भी किरदार छोटा या बड़ा नहीं होता, आप छोटे से किरदार को अच्छी तरह से निभाकर अपने आपको इस फिल्म नगरी में स्टैब्लिश कर सकते हो। मीरा चोपड़ा ने कहा की मॉडलिंग और एक्टिंग एक ही सिक्के के दो पहलु है, मॉडलिंग करते समय आपको ऑन द स्पॉट अदाकारी करनी होती है और फिल्मों में टेक रिटेक चल जाते है अगर आप फिल्मों में अपना करियर बनाना चाहते है तो आपको वो सब सीखना होगा जो आम ज़िन्दगी से परे है। मारवाह स्टूडियो के निदेशक संदीप मारवाह ने कहा की बारहवें ग्लोबल फिल्म फेस्टिवल में जितनी भी हस्तियां पहुंची है सभी अपने अपने क्षेत्र में उच्च स्तरीय है और मैं चाहता हूँ की मेरे छात्र इन तीन दिनो में कुछ न कुछ तो ज़रूर अडॉप्ट करे ताकि वो अपने जीवन में आगे बढ़ सके। चार्ल्स थॉमसन ने कहा की हमें सिर्फ हिंदी और इंग्लिश फिल्में ही नहीं बल्कि हर भाषा की फिल्में देखनी चाहिए क्योंकि हर भाषा की फिल्म का अपना ही एक मज़ा है, जैसे की देवदास फिल्म कई भाषा में बनी है और हर भाषा में उसका अपना ही अलग मज़ा है स्टोरी अलग होते हुए भी। राडू ऑक्टेवियन डोबरे ने कहा कि इस फेस्टिवल में आकर मुझे बहुत अच्छा लगा और यहाँ बच्चों और बड़े सभी की मतलब की फिल्में दिखाई जा रही है, फिल्में टूरिज्म को बहुत बढ़ावा देती है जैसे जैसे लोग किसी देश की फिल्मों से जुड़ते है वैसे वैसे वहां का टूरिज्म भी बढ़ता जाता है। इस अवसर पर जवाहर लाल नेहरू फोरम का भी पोस्टर जारी किया गया।