अव्यवस्था का शिकार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र राठ
April 16, 2020 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 15 अप्रैल (विश्वबीर),हमीरपुर। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र  इन दिनों व्याप्त घोर अव्यवस्था के चलते स्थानीय मरीजों को इस अस्पताल का लाभ नहीं मिल पा रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में दिन प्रतिदिन अव्यवस्थाओं के कारण काई नजारे देखने को मिले कभी मृत व्यक्ति के लिए शव वाहन न मिलना तो कभी स्ट्रेचर नसीब न होना  राठ तहसील के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का इस सप्ताह का यह दुसरा मामला है।


मामला हमीरपुर के राठ तहसील के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का है जहाँ चिकित्सकों ने चार पहिया के हाथ ठेला पर आये मरीज को देखते ही मृत घोषित कर दिया कस्बे के लोग उस समय यह नजारा देखकर दंग रह गए कि जब मुगलपुरा निवासी सुरेंद्र कुमार पुत्र मक्खन लाल की हालत खराब होने पर परिजन आनन-फानन में चार पहिया के हाथ ठेला में लिटा कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। जहां परिजनों ने अस्पताल परिसर में स्ट्रक्चर की तलाश की परंतु स्ट्रेचर परिजनों को आसपास कहीं नजर नहीं आये तो परिजन विवश होकर सीएचसी के अंदर कमरे में हाथ ठेला लेकर घुस गए। हैरान करने वाली बात तो तब हो गई जब अस्पताल के डाक्टर सहित पूरा स्टाफ मरीज का चेकअप करने के साथ ही ऑक्सीजन लगा दी । परंतु किसी भी डॉक्टर ने मरीज को बेड या स्ट्रेचर पर लिटाना मुमकिन नहीं समझा। और कुछ ही देर बाद मृत घोषित कर दिया। बता दें कि अभी हाल में ही मुगलपुरा निवासी हरिश्चंद्र पुत्र शिवदास की श्वास से मौत हो गई थी। जिसे अस्पताल प्रशासन ने अस्पताल में उपलब्ध शव वाहन तक नही उपलब्ध कराया था। और परिजन शव को चार पहिया के हाथ ठेला में लेकर घूमते रहे थे।
वही परिजन ने अस्पताल परिसर पर आरोप लगाया की जब स्टेचर नही मिल पाया तो शव वाहन कैसे मिलता इस लिए हम चार पहिया हाथ से घक्का लगाने वाले गाड़ी से ही शव ले गये।