अपने अपने ढंग से की जा रही है यथा स्थिति बनाए रखने की अपील, दोनो पक्षों ने सौंपी तहरीर
December 2, 2019 • Daily Shabdawani Samachar

शब्दवाणी समाचार सोमवार 02 दिसम्बर 2019 (दुर्गेश कश्यप) मौदहा,हमीरपुर। काफी समय से विवाद की जड बनी स्थानीय सब्जी मंडी का मामला आज सारे दिन नाटकीय घटनाक्रम में घूमता रहा।और सरकारी पदों में बैठे जिम्मेदार अधिकारी कहीं न कहीं अपने ऊपर दबाव महसूस करते दिखाई दिए।और गेंद एक दूसरे के पाले में डालते नजर आए।बताते चलें कि मौदहा कोतवाली के सामने खाली पडे मैदान में करीब पांच दशक से सब्जी मंडी की दूकानें लगती रही हैं।और कई बार इन दूकानों को लेकर विवाद की स्थिति भी उत्पन्न हुई है।और मामला न्यायालय में भी विचाराधीन है।बीते लगभग   आठ नौ महीने पहले नगरपालिका परिषद मौदहा ने कोतवाली प्रभारी के सहयोग से उक्त दूकानों को हटवा दिया था।

लेकिन जमीन पर फट्टा लगाकर सब्जी बेची जाती रही है।और सब्जी मंडी यूनियन तथा जमीन के वारिसो ने न्यायालय सी.डि.की अदालत में वाद दायर किया था।जिसमें माननीय न्यायालय ने यथा स्थिति बनाए रखने का आदेश जारी कर दिया है।अब जब सब्जी विक्रेताओं की दूकाने प्रतिदिन की भांति लगाई गई।तो मामले ने तूल पकड़ लिया।आनन फानन में सैकड़ों लोगों की भीड़ कोतवाली परिसर में दूकानों को हटाने के लिए एकत्रित हो गई तो समस्त सब्जी विक्रेताओं ने भी कोतवाली का रुख कर लिया।चूंकि रविवार की सुबह होने के कारण कोतवाली में भीड़ जल्दी ही जमा हो गई।मामला जमीन से सम्बंधित होने के कारण तहसीलदार मौदहा रामानुज शुक्ला भी मौके पर आगये।और मामले को लेकर वाद विवाद आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया।लेकिन जब कोतवाली प्रभारी द्वारा कहा गया कि जमीन को खाली कराने के लिए प्रार्थना पत्र दे।तो तहसीलदार मौदहा ने गेंद नगरपालिका अध्यक्ष और अधिशासी अधिकारी के पाले में डालते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया।

हालांकि बाद में अधिशासी अधिकारी नगरपालिका के पैरोकार द्वारा एक प्रार्थना पत्र कोतवाली प्रभारी को सौंपा गया है।जबकि सबने न्यायालय के आदेश को मानने की बात कही है।लेकिन अधिकारी कह रहे हैं कि दूकाने यहां नहीं लगती थी।तो यथा स्थिति बनाए रखने के लिए दूकानों को हटाया जाएगा।जबकि वास्तविकता यह है कि दूकानदारों द्वारा पहले टट्टर लगाकर दूकाने लगाई जाती थी।उसके बाद में फट्टा बिछाकर सब्जी बेची जा रही है जो अब भी जारी है।लेकिन नगरपालिका और तहसीलदार मौदहा किस प्रकार की यथा स्थिति बनाए रखने की बात कह रहे हैं।और सब्जी विक्रेता और नगर की जनता किस प्रकार की यथा स्थिति बता रही है।यह अभी भी अपने आप मे विवादित प्रश्न बना हुआ है।हालांकि कोतवाली पुलिस ने एहतियात के तौर पर पूरी व्यवस्था कर रखी है।